नीलकंठ-भानु-प्रकाश
Spread the love

हैदराबाद के नीलकंठ भानु प्रकाश ने दुनिया के सबसे तेज ‘ह्यूमन कैलकुलेटर‘ बन गये हैं| भारत की शकुंतला देवी का रिकॉर्ड तोड़ते हुए नीलकंठ ने ये खिताब जीता है| नीलकंठ भानु प्रकाश मात्र 20 साल के हैं और उन्होंने लंदन में आयोजित “माइंड स्पोर्ट्स ओलंपियाड” में यह ख़िताब अपने नाम किया है|

कैसे बने दुनिया के सबसे तेज ‘ह्यूमन कैलकुलेटर’

नीलकंठ भानु प्रकाश ने लंदन में आयोजित माइंड स्पो‌र्ट्स ओलंपियाड प्रतियोगिता में मानसिक गणना कर विश्व चैंपियनशिप जीत ली| इस चैंपियनशिप ने नीलकंठ को स्वर्ण पदक जिता कर दुनिया का सबसे तेज ‘ह्यूमन कैलकुलेटर’ बना दिया|

माइंड स्पो‌र्ट्स ओलंपियाड प्रतियोगिता में नीलकंठ भानु प्रकाश का मुकाबला 29 प्रतियोगियों से था जो अलग अलग देशों से आये थे|  इन प्रतियोगियों की उम्र 13 साल से 57 साल तक थी| नीलकंठ ने इस प्रतियोगिता में कुल 65 अंकों के अंतर से जीतकर स्वर्ण पदक भारत के नाम  दर्ज़ किया| माइंड स्पो‌र्ट्स ओलंपियाड प्रतियोगिता में यूके, फ्रांस, जर्मनी, यूएई,लेबनान ,ग्रीस और अन्य देशों के 30 प्रतियोगियों ने हिस्सा लिया था|

एक दुर्घटना ने बदल दिया जीवन

नीलकंठ भानु प्रकाश शकुंतला देवी की तरह जन्म से ही मैथ्स जीनियस नहीं थे| बीबीसी को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया की –  “जब वो मात्र पांच साल के थे तब उनके सिर पर चोट लगी थी| चोट इतनी गंभीर थी की उन्हें एक साल तक बिस्तर पर रहना पड़ा| माता- पिता की सलाह पर उन्होंने दिमाग को व्यस्त रखने के लिए मेंटल कैलकुलेशन करना शुरू किया| स्कूल से आने के बाद भी 6-7 घंटों तक मैथ्स की मेंटल कैलकुलेशन की प्रेक्टिस की| 

शुरुआत में स्कूल में होने वाली प्रतियोगिताओं में भाग लिया और उन्हें जीता| यहीं से उनका मैथ्स जीनियस बनने का सफ़र शुरू हुआ| नीलकंठ भानु प्रकाश ने राज्य स्तरीय, राष्टीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेकर पदक जीते। अब तक वे चार विश्व रिकॉर्ड और 50 लिम्का बुक रिकॉर्ड भी बना चुके हैं।

क्या ख़ास मैथ्स की प्रेक्टिस करते हैं नीलकंठ भानु प्रकाश

बचपन से ही मेंटल कैलकुलेशन को कुछ सेकंड में हल कर देने वाले नीलकंठ प्रतियोगिता के लिए किसी खास तरह की प्रेक्टिस नहीं करते| बकौल नीलकंठ वे केवल अंकों के बारे में सोचते हैं| इसके अलावा पूरी तरह फोकस होने के लिए वे लोगों से बात करके, तेज़ संगीत के साथ और क्रिकेट खेलते समय भी मेंटल मैथ्स कैलकुलेशन करते रहते हैं|

नीलकंठ भानु प्रकाश का परिवार और पढाई

नीलकंठ-भानु-प्रकाश-परिवार
Images taken from ANI

नीलकंठ परिवार के साथ हैदराबाद में रहते हैं| चूँकि उन्हें गणित बहुत पसंद है इसलिए उन्होंने पढाई भी मैथ्स में ही की है| भानु ने स्कूल की  पढाई हैदराबाद  से ही की है लेकिन आगे की पढाई के लिए दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज से गणित में डिग्री कर रहे हैं|

एक न्यूज़ पोर्टल को दिए इंटरव्यू के अनुसार भानु कहते हैं – “वैश्विक दौड़ में आगे पहुंचने के लिए हमें अपने देश की संख्यात्मकता योग्यता को मजबूत करना चाहिए| मैं देश के प्रधानमंत्री से अपील करता हूँ की वे गणितीय क्षमताओं और संख्यात्मकता का विकास करने के लिए प्रयास करें|


Spread the love